Dosti Shayari in Hindi | Shayari Dosti Love Sad02:35

  • 0
Published on January 1, 2018

Title:

Dosti Shayari in Hindi | Shayari Dosti Love Sad

Lyrics:

ज़िंदगी में बहुत मुश्किले हैं, पर हर कोई सहारा नहीं देता

यारों की यारी भी खिचड़ी से कम नहीं,
स्वाद भले ही न रहे पर कम्बख्त भूक मिटा देती है !!

दोस्तों कभी हम तुम्हें याद ना करे,
तो कोई बात नहीं,
तुम तो याद कर सकते हो हमें,
क्या पता तुम्हारा दोस्त कोई
Tension में हो,
बस एक कॉल मार दिया करो,,

मेरी दोस्ती का हिसाब जो लगाओगे
तो मेरी दोस्ती को बेहिसाब पाओगे,
पानी के बुलबुलों की तरह है हमारी दोस्ती,
अगर जरा सी ठेस पहुँची तो ढूंढ़ते रह जाओगे।

ज़माने बाद एक दवाखाने का रुख किया..
की तबियत नासाज़ सी जान पड़ रही थी
हकीम ने पर्चे पे कुछ उकेरी थी अपनी कलम से
पर्चा खोला तो कुछ पुराने कमीने से दोस्तों के नाम थे।।

ज़िंदगी में बहुत मुश्किले हैं, पर हर कोई सहारा नहीं देता,,

ज़िंदगी में बहुत दोस्त हैं, पर हर कोई ख़ास नहीं होता,,,

पर जब से आप जैसा दोस्त मिला हैं, मेरे सारे ग़मों को किनारा मिल गया हैं,

एक जैसे दोस्त सारे नही होते,
कुछ हमारे होकर भी हमारे नहीं होते,
आपसे दोस्ती करने के बाद महसूस हुआ,
कौन कहता है ‘तारे ज़मीं पर’ नहीं होते.

छू ले आसमान ज़मीन की तलाश ना कर
जी ले ज़िंदगी खुशी की तलाश ना कर
तकदीर बदल जाएगी खुद ही मेरे दोस्त
मुस्कुराना सीख ले वजह की तलाश ना कर

उनके दीदार के लिए दिल तड़पता है
उनके इंतजार में दिल तरसता है
क्या कहें इस कम्बख्त दिल को
अपना हो कर किसी और के लिए धड़कता है

Najuk sa dil kabhi bhul se na tute,
Choti choti baato se aap na ruthe,
Thodi si bhi fikar hai agar aapko hamari,
To koshish karna ki ye dosti kabhi na tute.

Dosti Shayari in Hindi

*कमियाँ तो मुझमें भी बहुत है,*
*पर मैं बेईमान नहीं।*
*मैं सबको अपना मानता हूँ,*
*सोचता फायदा या नुकसान नहीं।*
*एक शौक है ख़ामोशी से जीने का,*
*कोई और मुझमें गुमान नहीं।*
*छोड़ दूँ बुरे वक़्त में दोस्तों का साथ,*
*वैसा तो मैं इंसान नहीं।*

Enjoyed this video?
Dosti Shayari in Hindi
"No Thanks. Please Close This Box!"