Tujhe Wada Nibhana Hoga | Shayari Dosti Love Sad01:47

  • 0
Published on January 1, 2018

Title:

Tujhe Wada Nibhana Hoga | Shayari Dosti Love Sad

Lyrics:

Mere Mehboob Tujhe Wada Nibhana Hoga | Shayari Dosti Love Sad

मैं ख़ामोशी तेरे मन की, तू अनकहा अलफ़ाज़ मेरा…
मैं एक उलझा लम्हा, तू रूठा हुआ हालात मेरा …

जब आप किसी को चाहो तो

ये मत सोचो कि वो आपको पसंद करता है कि नहीं,

बस उसे इतना चाहो कि उसे आपके सिवा

किसी और की चाहत आए ही नहीं.

मौसम बहुत सर्द है चल ए दिल
कुछ खुआइशो को आग लगा देते है ।।

एक नदिया है मजबूरी की
उस पार हो तुम इस पार हैं हम,
अब पार उतरना है मुश्किल
मुझे बेकल बेबस रहने दो।

कभी प्यार था अपना दीवाना सा
झिझक भी थी एक अदा भी थी,
सब गुजर गया एक मौसम सा
अब याद का पतझड़ रहने दो।

तुम भूल गए क्या गिला करें
तुम, तुम जैसे थे हम जैसे नहीं,
कुछ अश्क़ बहेंगे याद में बस
अब दर्द का सावन रहने दो।

तेरे सुर्ख लबों के रंग से फिर
मुझे बिखरे ख्वाब संजोने दो,
मैं हूँ प्यार का मारा बेचारा
मुझे बेकस बेखुद रहने दो

उनका हर अंदाज़ हकीकत है या ख्वाब है ,
खुशनसीबों के पास रहते हैं वो ,
मेरे पास तो बस उनकी मीठी सी याद है

तेरी अदाओं का जादू इस शेर में लिखता हूँ…
तेरी अदाओं का जादू इस शेर में लिखता हूँ…
मदहोश हूँ अभी… थोड़ी देर में लिखता हूँ

 

Enjoyed this video?
Shayari Dosti Love Sad
"No Thanks. Please Close This Box!"